स्मृति

लोग भूल जाते हैं दहशत जो लिख गया कोई किताब में।

रघुवीर सहाय
  • संबंधित विषय : डर

लोग भूल गए हैं एक तरह के डर को जिसका कुछ उपाय था। एक और तरह का डर अब वे जानते हैं जिसका कारण भी नहीं पता।

रघुवीर सहाय
  • संबंधित विषय : डर

मन में पानी के अनेक संस्मरण हैं।

रघुवीर सहाय

संस्मरणों से किसी जगह को जानना उसे स्वप्न में जानने की तरह है जिसे हम जागने के कुछ देर बाद भूल जाते हैं या सिर्फ़ उसका मिटता हुआ स्वाद बचा रहता है।

मंगलेश डबराल

संबंधित विषय