कवियों की सूची

सैकड़ों कवियों की चयनित कविताएँ

समादृत कथाकार। समय-समय पर काव्य-लेखन भी।

अपभ्रंश के महत्त्वपूर्ण कवि। अन्य नाम ‘अद्दहमाण’। समय : 11-12वीं सदी। ‘संदेश रासक’ कीर्ति का आधार-ग्रंथ।

1200

रीतिकालीन नखशिख परंपरा के कवि।

1681 -1741 दिल्ली

सामाजिक-राजनीतिक आलोचना के प्रखर कवि-ग़ज़लकार।

1947 -2011 गोंडा

नई पीढ़ी के कवि। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

समादृत कवि-कथाकार-अनुवादक और संपादक। भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित।

सुपरिचित कवयित्री। कविताओं में उपस्थित संगीतात्मक वैभव के लिए उल्लेखनीय।

पर्वतीय-संवेदना और सरोकारों को अभिव्यक्ति देने वाले हिंदी के सुपरिचित कवि।

हिंदी के प्रसिद्ध कवि-लेखक और संपादक। हरिवंश राय बच्चन से निकटता के लिए भी चर्चित

1933 -2017 लखनऊ

योग और वेदांग के ज्ञाता। कहने को संत कवि लेकिन प्रकृति से वैष्णव भक्त। महाराजा छत्रशाल के आध्यात्मिक गुरु।

राधाकृष्ण भक्त। विष्णु स्वामी संप्रदाय से संबंध। वंशीअली के शिष्य। युगल भक्ति के कोमल पदों के लिए स्मरणीय।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक और अनुवादक।

नई पीढ़ी के चर्चित कवि-लेखक।

सूफ़ी संत, संगीतकार, इतिहासकार और भाषाविद। हज़रत निज़ामुद्दीन के शिष्य और खड़ी बोली हिंदी के पहले कवि। ‘हिंदवी’ शब्द के पुरस्कर्ता।

नई पीढ़ी के कवि। व्यंग्य और अनुवाद के संसार में भी सक्रिय।

नई पीढ़ी के कवि। काव्य-शिल्प के उल्लेखनीय।

पंजाबी की लोकप्रिय कवयित्री-लेखिका। भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित।

अज्ञातकुलशील कवि। प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार दूधनाथ सिंह की खोज।

हिंदी की सुपरिचित कवयित्री और कथाकार। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

नई पीढ़ी के कवि। गद्य-लेखन में भी सक्रिय।

नवें दशक में सामने आए हिंदी कवि। बतौर अनुवादक भी चर्चित।

नवें दशक के कवि। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित। जनवादी लेखक संघ से जुड़ाव।

नवें दशक के कवि। कहानी, डायरी और निबंध-लेखन में भी सक्रिय।

नवें दशक की कवयित्री। भाषिक सादगी और विषय-चयन के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी के कवि। पत्रकारिता से भी संबद्ध।

नई पीढ़ी की कवयित्री। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी की कवयित्री। संगीत में रुचि।

स्पैनिश भाषा के विश्व-विख्यात कवि।

बुंदेली फाग के कवि।

सुपरिचित कवि। आदिवासी संवेदना-सरोकारों के लिए उल्लेखनीय। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार और साहित्य अकादेमी के युवा पुरस्कार से सम्मानित।

‘जगत में मेला’ शीर्षक कविता-संग्रह के कवि। बतौर अनुवादक भी उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी की कवयित्री और अनुवादक। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

इस सदी में सामने आईं कवयित्री। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी के कवि। पत्रकारिता से भी जुड़ाव।

हिंदी के सुपरिचित कवि। ई-पत्रिका ‘समालोचन’ के संपादन के लिए सम्मानित।

आठवें दशक के प्रमुख कवि-लेखक और संपादक। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

नई पीढ़ी के हिंदी-मैथिली कवि-लेखक। भारतीय ज्ञानपीठ के नवलेखन पुरस्कार से सम्मानित।

सुपरिचित कवि-लेखक और अनुवादक। ‘बहनें’ शीर्षक कविता के लिए चर्चित।

सुपरिचित कवि-लेखक। दलित-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय।

दलित-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय कवि-कार्यकर्ता।

हिंदी कवि-कथाकार और अनुवादक। ‘कश्मीरनामा’ शीर्षक पुस्तक के लिए चर्चित।

1975 मऊ

समादृत कवि-आलोचक और संस्कृतिकर्मी। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

नवें दशक के महत्त्वपूर्ण कवि। अपने काव्य-वैविध्य और लोक-संवेदना के लिए उल्लेखनीय।

अभिनय के संसार से संबद्ध हिंदी कवयित्री और गद्य-लेखिका।

भारत के दसवें प्रधानमंत्री और हिंदी के लोकप्रिय कवि। भारत रत्न से सम्मानित।

हिंदी कविता के आठवें दशक में उभरे सुपरिचित कवि-आलोचक।

अज्ञेय द्वारा संपादित ‘चौथा सप्तक’ के कवि। चित्रकला में भी सक्रिय रहे।

कवि और गद्यकार। खड़ी बोली हिंदी के प्रथम महाकाव्य 'प्रिय प्रवास' के रचनाकार।