चिड़िया पर कविताएँ

चिड़ियों का होना बहुत

सी चीज़ों का होना और बचा रहना है। इस चयन में चिड़ियों और पक्षियों पर लिखी गई कविताएँ संकलित हैं।

उड़ानें

आलोकधन्वा

चिड़िया

अवधेश कुमार

कोशिश

विष्णु खरे

चिड़िया

कुसुमाग्रज

पक्षी की वापसी

केदारनाथ सिंह

ती-ती वित्त

सोमप्रभ

चिड़िया

शरद जोशी

कल्पना

हेमंत देवलेकर

गंगा और साइबेरियन पक्षी

शुभांगी श्रीवास्तव

प्योली और चिड़िया

अनिल कार्की

संबंध

शैलेय

पक्षी और तारे

आलोकधन्वा

प्यार में चिड़िया

कुलदीप कुमार

नकदौना चिड़िया : एक

पार्वती तिर्की

स्वस्ति-वाचन

सिद्धार्थ बाजपेयी

अब तो

मुकुंद लाठ

नकदौना चिड़िया : दो

पार्वती तिर्की

लपक गई

मुकुंद लाठ

पक्षी

अय्यप्प पणिक्कर

चिड़ियाँ

अब्दुल बिस्मिल्लाह

पेड़

नवीन सागर

फूल वाले पेड़ पर

अय्यप्प पणिक्कर

एक

दर्पण साह

मेरी घटनाएँ

शैलेंद्र दुबे

आओ! आओ!

सोमदत्त

आखेट का एक चित्र

अमिताभ चौधरी

पाँच चिड़ियों ने

ज्ञानेंद्रपति

कौआ

सुधीर रंजन सिंह

दो लड़कियों के पिता होने से

चंद्रकांत देवताले

चिड़िया से बतियाती औरत

महेश चंद्र पुनेठा

कहानी

गोविंद द्विवेदी

उस तरह से मत देखो

संजीव गुप्त

पक्षी और अर्थ

पंखुरी सिन्हा

कहो चिड़िया

स्वाति मेलकानी

किससे पूछें

अनिरुद्ध उमट

पक्षी युग्म से

कैलाश वाजपेयी

चिड़िया

नेमिचंद्र जैन

घोंसले

शीला सिद्धांतकर
बोलिए