समय पर अनुवाद

समय अनुभव का सातत्य

है, जिसमें घटनाएँ भविष्य से वर्तमान में गुज़रती हुई भूत की ओर गमन करती हैं। धर्म, दर्शन और विज्ञान में समय प्रमुख अध्ययन का विषय रहा है। भारतीय दर्शन में ब्रह्मांड के लगातार सृजन, विनाश और पुनर्सृजन के कालचक्र से गुज़रते रहने की परिकल्पना की गई है। प्रस्तुत चयन में समय विषयक कविताओं का संकलन किया गया है।

आवाज़ें-159

अंतोनियो पोर्चिया

आवाज़ें-145

अंतोनियो पोर्चिया

आवाज़ें-234

अंतोनियो पोर्चिया

आवाज़ें-149

अंतोनियो पोर्चिया

आवाज़ें-19

अंतोनियो पोर्चिया

आवाज़ें-90

अंतोनियो पोर्चिया