प्रार्थना पर पद

प्रार्थना प्रायः ईश्वर

के प्रति व्यक्त स्तुति या उससे याचना का उपक्रम है। इस चयन में प्रस्तुत है—प्रार्थना के भाव में रचित कविताओं का एक अनूठा संकलन।

मंगलाचरण

चंदबरदाई

बस, अब नहिं जाति सही

सत्यनारायण कविरत्न

मोहन कबलौं मौन गहौगे

सत्यनारायण कविरत्न

माधव, अब न अधिक तरसैए

सत्यनारायण कविरत्न

नाथ तुम अपनी ओर निहारो

भारतेंदु हरिश्चंद्र

भ्रमरदूत

सत्यनारायण कविरत्न

अब न सतावौ

सत्यनारायण कविरत्न

राखो प्रभुजी लाज

मध्व मुनीश्वर