शिकायत पर पद

बस, अब नहिं जाति सही

सत्यनारायण कविरत्न

मोहन कबलौं मौन गहौगे

सत्यनारायण कविरत्न

जागत सब निसि कहाँ रहे

गोविंद स्वामी

भ्रमरदूत

सत्यनारायण कविरत्न

अब न सतावौ

सत्यनारायण कविरत्न