कवियों की सूची

सैकड़ों कवियों की चयनित कविताएँ

हिंदी कहानी के पितामह और उपन्यास-सम्राट के रूप में समादृत। हिंदी साहित्य में आदर्शोन्मुख-यथार्थवाद के प्रणेता।

रीतिकाल के अंतिम प्रसिद्ध कवि। भाव-मूर्ति-विधायिनी कल्पना और लाक्षणिकता में बेजोड़। भावों की कल्पना और भाषा की अनेकरूपता में सिद्धहस्त कवि।

शृंगार की सरस फागों के लिए समादृत कवि।

अठारहवीं सदी के संत कवि। पदों में हृदय की सचाई और भावों की निर्भीक अभिव्यक्ति। स्पष्ट, सरल, ओजपूर्ण और मुहावरेदार भाषा का प्रयोग।

प्रेमचंद युग के गद्यकार और पत्रकार। कहानी विधा में ‘उग्र शैली’ के लिए उल्लेखनीय।

हिंदी के चर्चित कवि-आलोचक और अनुवादक। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित। जन संस्कृति मंच से संबद्ध।

इस सदी में सामने आए हिंदी कवि-लेखक। दलित-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय।

आठवें दशक के प्रमुख कवि-लेखक और संपादक। पत्रकारिता और जन संस्कृति मंच से संबद्ध रहे।

इस सदी में सामने आईं हिंदी कथाकार। समय-समय पर काव्य-लेखन भी।

नई पीढ़ी के कवि। दलित-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय।

फाग के लिए स्मरणीय कवि।

फाग के लिए ख्यात कवि।

सुपरिचित कवि। एक कविता-संग्रह प्रकाशित।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक।

इस सदी में सामने आईं हिंदी कवयित्री और गद्यकार। कहन में संक्षिप्तता के लिए उल्लेखनीय।

पंजाबी कविता के अत्यंत समादृत और क्रांतिकारी हस्ताक्षर।

सुपरिचित कवि। ‘स्त्री मेरे भीतर’ कविता-संग्रह के लिए विशेष ख्याति।

गोस्वामी वल्लभदास के शिष्य। पुष्टिमार्गीय वल्लभ संप्रदाय के अष्टछाप कवियों में से एक। माधुर्य भाव की भक्ति के लिए स्मरणीय कवि और गायक।

सुपरिचित कवि-लेखक और संपादक। कहन की नई शैली के लिए उल्लेखनीय।

हिंदी सिनेमा से संबद्ध लोकप्रिय गीतकार-कवि और पटकथा लेखक।

नई पीढ़ी की कवयित्री और गद्यकार।

अज्ञेय द्वारा संपादित ‘तार सप्तक’ के कवि। कथा-लेखन में भी सक्रिय रहे।

इस सदी के दूसरे दशक में ठीक से पहचाने गए हिंदी के बेहद महत्त्वपूर्ण कवि-लेखक। बच्चों के लिए भी लेखन।

हिंदी के समादृत कवि-आलोचक-कथाकार और संपादक।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक।

सुप्रसिद्ध हास्य कवि।

इस सदी में सामने आए हिंदी कवि-लेखक। भारतीय ज्ञानपीठ के नवलेखन पुरस्कार से सम्मानित।

नई पीढ़ी की कवयित्री। लोक-संवेदना और सरोकारों के लिए उल्लेखनीय।

अलक्षित कवि-आलोचक। बेहद कम उम्र में देहांत।

नई पीढ़ी के कवि-लेखक। ‘सितुही भर समय’ शीर्षक एक कविता-संग्रह प्रकाशित।

सुपरिचित कवि। बाल-साहित्य-लेखन में भी सक्रिय।

इस सदी में सामने आए हिंदी कवि-अनुवादक। पत्रकारिता से भी संबद्ध। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

हिंदी सिनेमा के लोकप्रिय कवि-गीतकार। पटकथा और विज्ञापन-लेखन के लिए भी मशहूर।

रीतिकाल की भक्त कवयित्री। कविता में परंपरागत आदर्श का निरूपण।

जोधपुर की महारानी। परिजनों की अकालमृत्यु के कारण असार संसार से विरक्त होकर कृष्ण-भक्ति में लीन हुईं और भक्ति के सरस पदों की रचना की।

भारतेंदु युग के महत्त्वपूर्ण कवि, गद्यकार और संपादक। 'ब्राह्मण' पत्रिका से चर्चित।

रीतिकाल के आचार्य कवि। साहित्यमर्मज्ञ, भावुक और अपूर्व काव्य कौशल में प्रवीण। इनकी भाषा में न कहीं कृत्रिम आडंबर है, न गति का शैथिल्य और न शब्दों की तोड़ मरोड़।

सातवें दशक में उभरे कवि। अनुवाद, कला-आलोचना और संपादन में भी सक्रिय।

अज्ञेय द्वारा संपादित ‘तीसरा सप्तक’ के कवि।

नवें दशक में सामने आए हिंदी कवि। बाद में कहानियाँ भी लिखीं। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

नई पीढ़ी की कवयित्री। उपन्यास-लेखन में भी सक्रिय।

नवें दशक में सामने आए हिंदी कवि। ‘पूर्वग्रह’ पत्रिका के संपादक।

बीकानेर नरेश के भाई और अकबर के दरबारी कवि। वीररस की कविताओं के लिए प्रसिद्ध।

नई पीढ़ी की कवयित्री। पत्रकारिता में सक्रिय।