दावणगेरे के रचनाकार

कुल: 4

कन्नड़ भाषा के सुप्रतिष्ठित कवि। नव्या कविता आंदोलन से संबद्ध। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

कन्नड़ भाषा के सुप्रतिष्ठित कवि-गद्यकार। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

कन्नड़ भाषा के युग कवि और राष्ट्रकवि के रूप में समादृत। ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित।

कन्नड़ भाषा के समादृत कवि और इतिहासकार। ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित।

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए