Kunwar Narayan's Photo'

कुँवर नारायण

1927 - 2017 | फ़ैज़ाबाद, उत्तर प्रदेश

समादृत कवि-आलोचक और अनुवादक। भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित।

समादृत कवि-आलोचक और अनुवादक। भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित।

कुँवर नारायण की संपूर्ण रचनाएँ

कविता 58

उद्धरण 25

विषम समयों में कविता की चुप्पी भी एक चीत्कार की तरह ध्वनित होती रही है। यह चुप्पी केवल कविता की चुप्पी नहीं, एक सामाजिक चेतना की घुटन भरी चीख़ है।

  • शेयर

भाषा के पर्यावरण में कविता की मौजूदगी का तर्क जीवन-सापेक्ष है : उसके प्रेमी और प्रशंसक हमेशा रहेंगे—बहुत ज़्यादा नहीं, लेकिन बहुत समर्पित!

  • शेयर

दुनिया जैसी है और जैसी उसे होना चाहिए के बीच कहीं वह एक लगातार बेचैनी है।

  • शेयर

लोग हमेशा वही नहीं चाहते जो उनके लिए हितकर हो।

  • शेयर

काव्य-रचना का एक अर्थ मनुष्य की कल्पनाशील चेतना का उद्दीपन है।

  • शेयर

वीडियो 17

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
Studio_Videos
Antim Unchai : Kunwar Narayan | Hindi Poem | Hindwi

कुँवर नारायण

Antim Unchai : Kunwar Narayan | Hindi Poem | Hindwi

शशिभूषण

कमरे में धूप : Kunwar Narain poetry | Lubna saleem

लुबना सलीम

Recitation

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए