पहेलियाँ

पहेलियाँ, बुझौवल या प्रहेलिका एक प्रकार का प्रश्नयुक्त वाक्य होता है, जिसमें किसी वस्तु का लक्षण या गुण घुमा-फिराकर भ्रामक रूप में प्रस्तुत किया जाता है। लोक में इसका उपयोग शिक्षा, मनोरंजन और सामने वाले के चातुर्य को चुनौती देने में किया जाता रहा है।

1253 -1325

सूफ़ी संत, संगीतकार, इतिहासकार और भाषाविद। हज़रत निज़ामुद्दीन के शिष्य और खड़ी बोली हिंदी के पहले कवि। ‘हिंदवी’ शब्द के पुरस्कर्ता।

रीतिकाल की कवयित्री। पहेलियों के लिए स्मरणीय।

बोलिए