नवगीत

कविता की एक विधा, जो नयी कविता आंदोलन के समानांतर विकसित हुई। गीत में रूप, आकार और छंद का बहुत महत्त्व रहा जबकि नवगीत ने अपना रूप गढ़ने में लय और गेयता को महत्त्व दिया।

1931 -1982

सुचर्चित गीतकार।

1942

लोकप्रिय गीतकार। काव्य की लगभग सभी विधाओं में सक्रिय।

1924

सुचर्चित गीतकार।

1933 -1991

सुचर्चित गीतकार।

1935 -2009

सुचर्चित गीतकार।

1916 - 1991

सुचर्चित गीतकार और संपादक।

1934

सुचर्चित गीतकार।