कविताएँ

हिंदी की काव्य-परंपरा से विभिन्न काव्य-विधाओं की रचनाओं का विशाल-संग्रह

1926 -2020

मलयालम के समादृत कवि और निबंधकार। ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित।

1980 -2001

असमय दिवंगत कवि। हिंदी और अँग्रेज़ी में लिखी कविताओं का एक संग्रह 'उड़ान' शीर्षक से मरणोपरांत प्रकाशित।

1994

नई पीढ़ी के कवि-गद्यकार। 'हिंदीनामा' के संस्थापक-संपादक।

नई पीढ़ी की कवयित्री। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी की सुपरिचित कवयित्री।

नई पीढ़ी की कवयित्री। संगीत में रुचि।

1990

नई पीढ़ी से संबद्ध कवि-लेखक।

1981

नई पीढ़ी के सुपरिचित कवि-आलोचक। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

1990

नई पीढ़ी के कवि। गद्य-लेखन में भी सक्रिय।

1911 -1987

समादृत कवि-कथाकार-अनुवादक और संपादक। भारतीय ज्ञानपीठ से सम्मानित।

1929 -1998

सुपरिचित तेलुगु कवि-लेखक-पत्रकार। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

1958

सुपरिचित कवयित्री। कविताओं में उपस्थित संगीतात्मक वैभव के लिए उल्लेखनीय।

1989

नई पीढ़ी के कवि। पत्रकारिता से भी संबद्ध।

1965

पर्वतीय-संवेदना और सरोकारों को अभिव्यक्ति देने वाले हिंदी के सुपरिचित कवि।

1946

सुपरिचित कवि और पत्रकार। जन संस्कृति मंच से संबद्ध।

1933 -2017

हिंदी के प्रसिद्ध कवि-लेखक और संपादक। हरिवंश राय बच्चन से निकटता के लिए भी चर्चित

1907 -1979

बांग्ला के सुपरिचित कवि-निबंधकार।

1926 -2015

असमिया भाषा के सुप्रतिष्ठित कवि, समालोचक और अनुवादक। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

1947

सुपरिचित कवि-लेखक और प्रशासनिक अधिकारी। एक से अधिक पुस्तकें प्रकाशित। 'हाशिए पर आदमी' उल्लेखनीय कविता-संग्रह।

1926 -2018

भारत के दसवें प्रधानमंत्री और हिंदी के लोकप्रिय कवि। भारत रत्न से सम्मानित।

1985

नई पीढ़ी की लेखिका। पत्रकारिता से भी संबद्ध। दो उपन्यास प्रकाशित।

1995

नई पीढ़ी के कवि-लेखक।

1967

सुपरिचित राजस्थानी कवि-साहित्यकार। कविता की प्रभावशाली मंचीय प्रस्तुति के लिए उल्लेखनीय।

1995

नई पीढ़ी के रचनाकार। पत्रकारिता से भी संबद्ध।

1946

हिंदी कविता के आठवें दशक में उभरे सुपरिचित कवि-आलोचक।

1958

पाकिस्तान की सुपरिचित सिंधी कवयित्री-लेखिका और कार्यकर्ता। अपने नारीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

1994

नई पीढ़ी के कवि। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार से सम्मानित।

नई पीढ़ी की सुपरिचित कवयित्री।

1986

सुपरिचित कवि। आदिवासी संवेदना-सरोकारों के लिए उल्लेखनीय। भारतभूषण अग्रवाल पुरस्कार और साहित्य अकादेमी के युवा पुरस्कार से सम्मानित।

सुपरिचित कवयित्री। अँग्रेज़ी में चार पुस्तकें प्रकाशित।

1912 -1987

प्रगतिशील चेतना के ओड़िया कवि-लेखक। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

1905 -2002

सबुज कविता के अग्रणी कवि-निबंधकार। ओड़िया के साथ ही बांग्ला में भी लेखन।

1958

‘जगत में मेला’ शीर्षक कविता-संग्रह के कवि। बतौर अनुवादक भी उल्लेखनीय।

1986

नई पीढ़ी की कवयित्री। जन संस्कृति मंच से संबद्ध।

1997

नई पीढ़ी के कवि-लेखक और कलाकार।

1958

समकालीन असमिया कवि-अनुवादक।

1989

नई पीढ़ी के कवि। पत्रकारिता से भी जुड़ाव।

नई पीढ़ी की कवयित्री और अनुवादक। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

नई पीढ़ी की कवयित्री। ‘ओ रंगरेज़’ और ‘वर्जित इच्छाओं की सड़क' शीर्षक से दो कविता-संग्रह प्रकाशित।

1957

बांग्ला की सुपरिचित कवयित्री और निबंधकार। पर्यावरण, विस्थापित-पुनर्वास और अन्य सामाजिक कार्यों में सक्रिय।

1971

इस सदी में सामने आईं कवयित्री। स्त्रीवादी विचारों के लिए उल्लेखनीय।

अज्ञातकुलशील कवि। प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार दूधनाथ सिंह की खोज।

1961

हिंदी की सुपरिचित कवयित्री और कथाकार। साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित।

जश्न-ए-रेख़्ता (2023) उर्दू भाषा का सबसे बड़ा उत्सव।

पास यहाँ से प्राप्त कीजिए