Naveen Sagar's Photo'

नवीन सागर

1948 - 2000 | सागर, मध्य प्रदेश

हिंदी के अत्यंत उल्लेखनीय कवि-कथाकार।

हिंदी के अत्यंत उल्लेखनीय कवि-कथाकार।

कविता 75

उद्धरण 16

सूरज नहीं चाँद तारे संगीत चित्र भी नहीं कविता से भी सुंदर लगता है मनुष्य।

  • शेयर

हम अपने बारे में इतना कम और इतना अधिक जानते हैं कि प्रेम ही बचता है प्रार्थना की राख में।

  • शेयर

अनंत अपनी मृत्यु में रहते हैं इतने धुँधले कि हमारी झलक में बार-बार जन्म लेते हैं संसार!

  • शेयर

सुंदरता! कितना बड़ा कारण है—हम बचेंगे अगर!

  • शेयर

जब कोई अर्थ नहीं रह जाता व्यर्थ का दुनिया में बहुत कुछ होता रहता है।

  • शेयर