फाग

हिंदी पट्टी में होली के अवसर पर गाए जाने वाले गेय पद। मुख्य विषय प्रकृति सौंदर्य, राधाकृष्ण प्रेम और ग्राम्य जीवन का हास-विलास।

बुंदेलखंड के लोकप्रिय और समर्थ कवि। फाग के लिए स्मरणीय।

1824 -1909